OLD AGE SOLUTIONS

Portal on Technology Initiative for Disabled and Elderly
An Initiative of Ministry of Science & Technology (Govt. of India)
Brought to you by All India Institute of Medical Sciences
Select Theme . . . .

प्रस्तावना

व्यावसायिक चिकित्सा

स्व देखभाल

सचलता तथा परिवहन

घरेलू कार्य

संरक्षा/सुरक्षा

फुरसत में की जाने
वाले कार्यकलाप

सम्प्रेषण

ड्रेसिंग उपस्कर

प्रस्तावना

एचईएआरटी (होरिजोन्टल यूरोपियन एक्टिविटीस इन रिहैबिलिटेशन टेक्नोलोजी) परियोजना के अनुसार

दुर्बलता, अशक्तता अथवा अपगंता को रोकने, क्षतिपूर्ति करने, राहत दिलाने अथवा दूर करने तथा व्यक्ति विशेष की स्वायत्तता तथा जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए अशक्त व्यक्तियों और वृद्धों द्वारा प्रयोग में लाया जाने वाला कोई उत्पाद, औजार, कार्यनीति, सेवा तथा कार्य पद्धति- जिसे विशेष रुप से तैयार किया गया हो अथवा सामान्य रुप से उपलब्ध हो। (जेनसेन 1999 पृष्ठ 80)

जिस प्रकार से वृद्ध व्यक्तियों में अनेक प्रकार की भिन्न भिन्न अशक्ततताएं हो सकती हैं उसी प्रकार से इन अशक्तताओं को दूर करने में सहायता के लिए अनेक भिन्न भिन्न प्रकार के सहायक उपस्कर तथा सेवाएं उपलब्ध हैं। इनमें निम्नलिखित शामिल हैं:

  • अनुकूलनशील स्विच। संशोधित किए गए स्विच जिन्हे वरिष्ठ व्यक्तियों द्वारा एयर कन्डीशनर्स, कम्प्यूटरर्स, टेलीफोन आन्सरिंग मशीनों, विद्युत चालित व्हीलचेयर्स तथा अन्य प्रकार के उपकरणों को एडजस्ट करने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। इन स्विचों को बोल कर अथवा आवाज निकाल कर सक्रिय किया जा सकता है।
  • सम्प्रेषण उपकरण। कोई भी ऐसा उपकरण जिससे व्यक्ति संदेश भेजने तथा प्राप्त करने में समर्थ होता है, जैसे कि टेलीफोन एम्प्लीफायर।
  • कम्प्यूटर पहुंच। विशेष साफ्टवेयर जिनसे वरिष्ठ व्यक्तियों को इंटरनेट तक पहुंच प्राप्त करने में सहायता मिलती है, उदाहरण के लिए, अथवा मूल हार्डवेयर, जैसे संशोधित कीबोर्ड अथवा माउस जिससे कम्प्यूटर अधिक प्रयोक्ता अनुकूल बन जाते हैं।
  • शिक्षा। नेत्रहीन व्यक्तियों के लिए अन्य संसाधनों के लिए आडियो पुस्तकें अथवा ब्रेल लेखन उपकरण इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं जिससे लोग अतिरिक्त व्यावसायिक प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं।
  • आवास संबंधी संशोधन। निर्माण अथवा रिमाडलिंग कार्य जैसे व्हीलचेयर पहुंच के लिए रैम्प का निर्माण करना जिससे वरिष्ठ व्यक्ति शारीरिक बाधाओं को दूर कर सकते हैं तथा अशक्तता के साथ अधिक सुविधाजनक रुप से जीवन निर्वाह कर सकते हैं अथवा दुर्घटना या चोट से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • स्वतंत्र जीवन यापन के लिए टूल्स। कोई भी ऐसी वस्तु जिससे वृद्ध व्यक्ति अन्यों की सहायता के बिना दैनिक कार्यकलापों संबंधी सामान्य गतिविधियों को निष्पादित करने के लिए सशक्त होते हैं, जैसे कि विकलांगों द्वारा एक्सेस किए जा सकने वाले स्नानागृह जिसमें नहाने के टब में ग्रेब बार्स लगी रहती हैं।
  • कार्य से संबंधित मदें। कोई भी उपस्कर अथवा प्रक्रिया जिसकी किसी व्यक्ति को अपना कार्य बेहतर अथवा सरलता से करने के लिए जरुरत पड़ती है। इनमें विशेष प्रकार की कुर्सी अथवा डेस्क पर कार्य करने वाले व्यक्ति के लिए सिरहाना अथवा शारीरिक श्रम करने वाले व्यक्ति के लिए बैक ब्रेस शामिल हो सकते हैं।
  • सचलता में सहायक उपस्कर । कोई भी ऐसा उपकरण जो कि किसी वरिष्ठ व्यक्ति को अपने आस पास घूमने में सहायता उपलब्ध कराता है जैसे विद्युत चालित व्हीलचेयर, व्हीलचेयर लिफ्ट, अथवा सीढ़ी एलेवेटर शामिल हैं।
  • ओर्थोटिक अथवा प्रोस्थैटिक उपकरण। एक ऐसा उपस्कर जो कि शरीर के किसी हिस्से के न होने की स्थिति अथवा अंग विशेष की विकलांगता की कमी को दूर करता है इसमें फालन आर्चिस वाले किसी व्यक्ति के लिए ओर्थोपैडिक शू इन्सर्ट्स अथवा किसी ऐसे व्यक्ति जिसकी बाजू का काट दिया गया है, के लिए कृत्रिम बाजू शामिल हैं।
  • मनोरंजन संबंधी सहायता। अशक्त व्यक्तियों के लिए नई पद्धतियां और टूल्स जिससे वह अनेक प्रकार की आमोद प्रमोद संबंधी गतिविधियों का मजा ले सकें। इनमें मनोरंजनात्मक चिकित्सकों द्वारा उपलब्ध कराए गए तैराकी संबंधी पाठ अथवा ऐसे वरिष्ठ व्यक्तियों जिनको दुर्घटना अथवा बीमारी के कारण अपना कोई अंग आदि गंवाना पड़ा हो, के लिए विशेष रुप से तैयार की गई स्की शामिल हैं।
  • सीटिंग सहायक उपस्कर। नियमित कुर्सियों, व्हीलचेयर्स, अथवा मोटर स्कूटर्स में किसी प्रकार का फेर बदल जिससे किसी व्यक्ति को सीधा रहने में सहायता मिलती है अथवा चढ़ने या उतरने में किसी की सहायता की आवश्यकता नहीं पड़ती है अथवा जिससे त्वचा पर दबाव में कमी लाने में सहायता मिलती है। यह सामान्य रुप से एक अतिरिक्त सिरहाना भी हो सकता है अथवा मोटरयुक्त सीट जैसा जटिल उपकरण भी हो सकता है।
  • संवेदनशीलता संवर्धक। ऐसी कोई भी वस्तु जो कि किसी आंशिक अथवा पूर्णतया नेत्रहीन अथवा बहरे व्यक्ति के लिए उसके आस पास की दुनिया को बेहतर रुप से समझने में सहायता उपलब्ध कराती है। उदाहरण के लिए किसी ऐसे वरिष्ठ व्यक्ति जिसकी श्रवण शक्ति कमजोर है, उसके लिए टीवी कैप्शन डिकोडर एक सहायक उपस्कर होगा।
  • रोगोपचार। कोई भी ऐसा उपस्कर अथवा प्रक्रिया जो कि किसी व्यक्ति को बीमारी अथवा चोट ग्रस्तता से अधिकाधिक स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने में सहायता करती है। रोगोपचार में सेवाओं तथा तकनालोजी का संगम शामिल हो सकता है, जैसे शरीर चिकित्सक द्वारा कठोर मांसपेशियों की विभिन्न प्रकार की गतियों को फिर से आरम्भ करने के लिए विशेष मालिश इकाई का उपयोग किया जाना।
  • परिवहन सहायता। वरिष्ठ व्यक्तियों के लिए ऐसे उपस्कर जो कि कार अथवा ट्रक में चढ़ना उतरना उनके लिए सरल बना देते हैं तथा अधिक सुरक्षित रुप से वाहन चालन संभव होता है जैसे कि समायोजनीय शीशे, सीटें, तथा स्टीयरिंग व्हील आदि। ऐसी सेवाएं जिनसे वरिष्ठ व्यक्ति अपने वाहनों का रख रखाव अथवा पंजीकरण करवाने में सहायता मिलती है जैसे कि वाहन विभाग में ड्राइव अप विन्डों इस श्रेणी में आती हैं।

सहायक तकनालोजी के क्या क्या लाभ हैं?

अनेक वरिष्ठ व्यक्तियों के लिए सहायक तकनालोजी से उनके स्वतंत्र जीवन यापन अथवा दीर्घकालिक नर्सिंग अथवा आवास-स्वास्थ्य देखभाल के बीच अंतर पड़ता है। दूसरों के लिए, दैनिक जीवन यापन की सामान्य गतिविधियों करना जैसे कि नहाना अथवा स्नानागृह में जाना आदि को निष्पादित करने की उनका क्षमता के लिए सहायक तकनालोजी बहुत अधिक महत्वपूर्ण होती है।

नैशनल कांउसिल ऑन डिस्एबिलिटी द्वारा 1980 में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, वरिष्ठ व्यक्तियों में से 80 प्रतिशत व्यक्ति जिनके द्वारा सहायक तकनालोजी का प्रयोग किया गया, वह दूसरों पर अपनी निर्भरता को कम करने में सफल रहे थे। इसके साथ साथ, सर्वेक्षण किए गए कुल व्यक्तियों में आधे व्यक्ति सपारिश्रमिक सहायकों पर अपनी निर्भरता को दूर करने में सफल रहे, और आधे व्यक्ति नर्सिंग में नहीं गए। वरिष्ठ व्यक्तियों तथा उनके परिवार वालों के लिए सहायक तकनालोजी से उनकी देखभाल की लागत में भी कमी आती है। हालांकि परिवार वालों को कुछ उपकरणों के लिए मासिक आधार पर भुगतान करना पड़ सकता है, लेकिन अनेक परिवारों के लिए यह लागत आवास-स्वास्थ्य अथवा नर्सिंग होम देखभाल की लागत से बहुत कम होती है।

Mail to -: श्री प्रकाश कुमार->psharma@oldagesolutions.org

  Copyright 2015-AIIMS. All Rights reserved Visitor No. - Website Hit Counter Powered by VMC Management Consulting Pvt. Ltd.